सिर्फ आर माधवन का बेटा बनकर नहीं रहना चाहते वेदांत, गोल्ड मेडल जीतने के बाद कही ये बड़ी बात

अभिनेता आर माधवन के बेटे वेदांत इन दिनों सुर्खियों में हैं। वेदांत ने डेनिश ओपन में पुरुषों की 800 मीटर फ्री स्टाइल तैराकी स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता है, जिसके बाद उनकी हर तरफ चर्चा हो रही है। सेलेब्स से लेकर सोशल मीडिया यूजर्स तक उनकी तारीफ कर रहे हैं। वहीं, स्वर्ण पदक जीतने के बाद वेदांत ने एक इंटरव्यू दिया है, जिसमें उन्होंने अपनी जीत का सारा श्रेय अपने माता-पिता को दिया। साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि वह कभी भी सिर्फ आर माधवन का बेटा बनकर नहीं रहना चाहते थे।

आर माधवन के बेटे वेदांत ने इंटरव्यू में बताया कि उन्हें यहां तक पहुंचाने में उनके माता-पिता ने काफी मेहनत की है। उन्होंने कहा कि मैं अपने पिता की छाया में नहीं रहना चाहता था। मैं हमेशा अपना नाम बनाना चाहता था। मैं कभी भी सिर्फ आर माधवन का बेटा बनकर नहीं रहना चाहता था। इसके आगे उन्होंने कहा कि मेरे माता-पिता हमेशा ही मेरा ध्यान रखते हैं। उन दोनों ने काफी मेहनत की है। उन्होंने मेरे लिए त्याग भी किए है, जिसमें से एक दुबई शिफ्ट होना था।

बता दें कि कोरोना वायरस की वजह से बीते साल मुंबई में कई बड़े स्विमिंग पूल को बंद कर दिया गया था, जिस वजह से ही आर माधवन अपने बेटे और पत्नी के साथ दुबई में शिफ्ट हो गए थे, ताकि वेदांत अपनी ओलंपिक की तैयारी अच्छे से कर सके। वेदांत को वहां पर बड़े स्विमिंग पूल में अच्छे से प्रैक्टिस करने का मौका मिला था। इस बात की जानकारी खुद आर माधवन ने अपने एक इंटरव्यू में दी थी। 

वेदांत ने जब डेनिश ओपन में पुरुषों की 800 मीटर फ्री स्टाइल तैराकी स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था उसके बाद आर माधवन ने सोशल मीडिया पर अपने बेटे का एक वीडियो भी शेयर किया था, जो वेदांत की जीत की अनाउंसमेंट और सम्मान सम्मारोह का था। इस वीडियो के कैप्शन में उन्होंने बताया था कि उन्हें अपने बेटे पर बहुत गर्व है। ये वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ।